Loading...


भारतीय वायु सेना के चीफ मार्शल बी.एस. धनोआ ने सोमवार को पंजाब के बठिंडा के पास ‘मिसिंग मैन’ फॉमेर्शन में उड़ान भरकर कारगिल युद्ध में 20 साल पहले शहीद हुए स्क्वाड्रन लीडर अजय आहूजा को श्रद्धांजलि दी। आहूजा को कारगिल युद्ध के दौरान अपने अदम्य साहस के लिए मरणोपरांत वीर चक्र से सम्मानित किया गया था।

भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी.एस. धनोआ ने कहा कि वर्ष 2002 में ऑपरेशन पराक्रम के दौरान उनके (पाकिस्तान के) पास क्षमता नहीं थी, उसके बाद उन्होंने अपनी टेक्नोलॉजी को अपग्रेड कर लिया था, लेकिन राफेल के आते ही हमारा पलड़ा फिर भारी हो जाएगा।
रेप केस: SC से BSP सांसद को झटका, गिरफ्तारी से छूट देने से इनकार
बठिंडा के बाहरी इलाके भिसियाना एयर बेस से उड़ान भरकर ‘मिसिंग मैन’ आकृति बनाई गई, जिसमें एयर मार्शल आर. नंबियार ने भी हिस्सा लिया।

कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के उस विमान को गिरा दिया था जिसे स्क्वाड्रन लीडर आहूजा उड़ा रहे थे। बाद में 27 मई 1999 को, पैराशूट से नीचे उतरे आहूजा की पाकिस्तानी सैनिकों ने निर्ममतापूर्वकहत्या कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here