पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नई सरकार के शपथ ग्रहण के महीने भर के भीतर ही अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है। सरकारी बंगले को खाली करने के सुषमा स्वराज के इस कदम की सोशल मीडिया पर खूब प्रशंसा हो रही है। बीजेपी की दिग्गज नेता सुषमा स्वराज ने लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया था और मोदी सरकार में मंत्री न बनने का भी आग्रह किया था, जिसके बाद वह मंत्री नहीं बनी थीं।

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार की सुबह ट्वीट किया- मैंने दिल्ली स्थित 8 सफदरजंग लेन का अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है। कृप्या नोट कर लें कि अब मैं पुराने पते और फोन नंबर पर उपलब्ध नहीं रहूंगी।’ गौरतलब है कि एक ओर जहां सरकारी आवास छोड़ने और न छोड़ने को लेकर नेताओं को कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हैं, वहीं खुद सुषमा स्वराज ने अपना सरकारी आवास खाली कर एक नया उदाहरण पेश किया है।

सुषमा स्वराज के इस कदम का सोशल मीडिया पर काफी गर्मजोशी से स्वागत हुआ। ट्विटर पर कई यूजर्स ने सुषमा स्वराज की तारीफ की। एक यूजर ने लिखा- ‘अन्य पार्टी वालों को कोर्ट का सहारा लेकर मकान से खदेड़ना पड़ता है, और आप स्वयं खाली कर के जा रही हैं…. इसे कहते हैं संस्कार और समर्पण।’

एक यूजर ने लिखा- माननीय आपका पता और ठिकाना करोड़ों भारतीय और विदेशी लोगों के दिलों में जिन्हें आपने बिना भेदभाव किये मदद करी और बहुत लोगों को तो लगभग जीवन दान दिया है हम सभी आपके अच्छे स्वस्थ जीवन की कामना करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here