Loading...

Image result for नाव पलटने से 11 की मौत

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में शुक्रवर तड़के गणपति विसर्जन के दौरान नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग लापता हैं। यह घटना सुबह करीब 4:30 बजे हुई जब काफी संख्या में लोग नाव पर सवार होकर खाटलपुरा घाट पर गणपति को विसर्जित करने के लिए जा रहे थे। घटनास्थल पर बचाव और राहत कार्य जारी है।

भोपाल (शहर) के पुलिस उप महानिरीक्षक इरशाद वली ने भाषा को बताया कि यह घटना छोटे तालाब के खटलापुरा घाट पर शुक्रवार तड़के करीब 4.30 बजे हुई। उन्होंने कहा कि हादसे के वक्त वे लोग गणेश प्रतिमा को विसर्जित करने गए थे। वली ने बताया कि शुरुआती जानकारी के मुताबिक इन दो नावों में 19 लोग सवार थे। 11 शव तालाब से निकाल लिए गए हैं। छह लोगों को सुरक्षित निकाला गया और दो लोगों की तलाश की जा रही है। मारे गए लोग पिपलानी इलाके के रहने वाले थे।यह घटना सुबह लगभग 4:30 बजे हुई। अन्य अधिकारियों और पेशेवर तैराकों के साथ घटनास्थल पर कम से कम 40 पुलिस कर्मी मौजूद हैं। राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (एसडीआरएफ) की टीम भी मौके पर मौजूद है।

Image result for नाव पलटने से 11 की मौत

मौके पर मौजूद विधि मंत्री पी. सी. शर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि नाव में एक पूरी उत्सव समिति के सदस्य सवार थे। वे जैसे ही बड़ी मूर्ति का विसर्जन करने लगे, नाव अचानक पलट गई। मरने वाले सभी 11 लोग नवयुवक थे। छह लोग बचा लिए गए हैं। स्थानीय खटलापुरा पर हुए हादसे में कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने सभी मृतकों के परिजन को चार-चार लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।

करीब 20 फीट की गहराई पर दो नावें आपस में बंधी हुई उल्टी हालत में बरामद हुईं हैं। उन्हें क्रेन की मदद से निकाला जा रहा है। उन नावों में शेष लोगों के फंसे होने की आशंका हो सकती है। उन्होंने बताया कि झील में गहराई पर गणेश प्रतिमाएं, कीचड़ और बांस समेत अन्य अवशेषों के चलते गोताखोरों को शेष दो लोगों की तलाश में खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here