Loading...


बनारसः जेएचवी शूटआउट का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, भागने की कर रहा था तैयारी

बनारस के सबसे बड़े मॉल में फायरिंग करने के मुख्य आरोपी आलोक उपाध्याय को पुलिस ने कैंट रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया है। मॉल में हुई फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई थी वहीं दो लोग घायल हो गए थे।


आलोक उपाध्याय बनारस से भागने की फिराक में था। पुलिस को इस बात की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस सादे कपड़ों में चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान कैंट पुलिस और क्राइम ब्रांच ने उसे कैंट रेलवे स्टेशन से दबोच लिया।

आलोक की गिरफ्तारी पर उसका पिता अवधेश उपाध्याय थाने पहुंचा और हंगामा करने लगा। उसने पुलिस को आत्मदाह करने की धमकी भी दी। पुलिस इस मामले में एक आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।…


JHV डबल मर्डर केस : मुख्‍य आरोपी के पिता का आरोप- ‘बेटे का एनकाउंटर कर देगी क्राइम ब्रांच’

बनारस। जिले के चर्चित जेएचवी मॉल में बीते दिनों हुए दोहरे हत्‍याकांड के मुख्‍य आरोपी आलोक उपाध्‍याय को क्राइम ब्रांच ने उठा लिया है। इस हाई-प्रोफाइल मर्डर केस के मुख्‍य आरोपी आलोक उपाध्‍याय के पिता अवधेश उपाध्‍याय ने ये आरोप लगाते हुए कहा है कि उनके बेटे को क्राइम ब्रांच की टीम ने वाराणसी कैंट स्‍टेशन से उस वक्‍त पकड़ा जब वह इस मामले में सरेंडर करने फरक्‍का एक्‍सप्रेस से लखनऊ जा रहा था।


मुख्‍य आरोपी आलोक के पिता के अनुसार वे अपने बेटे को बिहार के आरा से ट्रेन के जरिये लखनऊ जा रहे थे, जहां उसको कोर्ट में सरेंडर कराना था। उन्‍होंने बताया कि कैंट रेलवे स्टेशन पर फरक्का एक्सप्रेस ट्रेन से क्राइम ब्रांच की पुलिस टीम और कैंट थाने की पुलिस ने उन्‍हें और उनके बेटे को ट्रेन से उतार लिया और अपने साथ जीप में लेकर कचहरी के पास तक पहुंचे। मुख्‍य आरोपी के पिता अवधेश उपाध्‍याय के अनुसार कचहरी के पास पुलिसवालों ने उन्‍हें जीप से धक्‍का देकर भगा दिया।


पिता अवधेश उपाध्‍याय ने आरोप लगाया है कि उन्‍हें शक है कि पुलिस उनके बेटे का एनकाउंटर कर देगी। अवधेश उपाध्‍याय ने कहा कि उनके बेटे ने अगर कोई जुर्म किया है तो उसका फैसला और सजा न्‍यायालय पर छोड़ देना चहिये।

बता दें कि 31 अक्‍टूबर को आलोक उपाध्‍याय ने अपने तीन साथियों रोहित, ऋषभ और कुंदन के साथ मिलकर जेएचवी मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए चार लोगों को गोली मार दी थी, जिसमें से दो की मौत हो गयी जबकि दो घायल हुए। इस सनसनीखेज घटना के बाद वाराणसी पुलिस ने सभी आरोपियों पर 25-25 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया था।

इस मामले में आरोपी रोहित को पुलिस ने पहले ही सारनाथ इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मुख्‍य आरोपी आलोक के पिता के अनुसार उनके बेटे को भी पुलिस ने सोमवार सुबह कैंट स्‍टेशन से उठा लिया है। वारदात को अंजाम देने के दो अन्‍य आरोपी ऋषभ और कुंदन अभी भी फरार बताये जा रहे हैं।

वहीं जब इस मामले में क्राइम ब्रांच प्रभारी से संपर्क करने की कोशिश की गयी मगर उनसे सम्‍पर्क नहीं हो सका है। सूत्रों की मानें तो क्राइम ब्रांच प्रभारी किसी अपराधी के साथ मुठभेड़ में घायल हुए हैं।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here