Loading...
Loading...

रिम्स के पेईंग वार्ड में भर्ती लालू प्रसाद की दिनचर्या बिगड़ गई है। पिछले तीन दिनों से न तो वह सो पा रहे हैं, न ही दोपहर का खाना खा रहे हैं। उनकी दिनचर्या देखकर डॉक्टरों की परेशानी भी बढ़ गई है। रिम्स में लालू प्रसाद का इलाज कर रहे प्रो. डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि वह सुबह में नाश्ता तो किसी तरह ले रहे हैं, लेकिन दोपहर का खाना नहीं खा रहे हैं। सुबह में नाश्ता और रात में ही खाना ले रहे हैं, जिसके कारण उन्हें इंसुलिन देने में परेशानी हो रही है। डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि संभव है कि तनाव के कारण उनकी यह स्थिति हैं।

डॉ उमेश प्रसाद ने शनिवार को लालू प्रसाद को काफी समझाया और उनसे कहा है कि उनकी सेहत ठीक नहीं है। ऐसे में समय से खाना और दवा काफी जरूरी है। यदि समय से खाना नहीं खाएंगे तो समय से दवा नहीं दी जा सकेगी, जिसका सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। डॉ प्रसाद ने बताया कि शनिवार को उनका ब्लड प्रेशर व शुगर भी ठीक ही था। लेकिन ऐसी स्थिति बनी रही तो कुछ कहा नहीं जा सकता है।

ज्ञात हो कि चुनाव परिणाम के दिन लालू प्रसाद सुबह आठ बजे से ही टीवी खोलकर देख रहे थे। लेकिन जैसे जैसे चुनाव परिणाम आने लगा उनकी उदासी बढ़ती चली गई। दोपहर एक बजे तो वह टीवी बंद कर सो गए।

लालू प्रसाद को सौंपी उनकी किताब
रिम्स के पेईंग वार्ड में शनिवार को राजद प्रदेश अध्यक्ष अभय सिंह, पीरपैंती, बिहार के राजद विधायक रामबिलास यादव और लालू प्रसाद की जीवनी लिखने वाले नलिन वर्मा ने लालू प्रसाद से मुलाकात की। लालू प्रसद से मुलाकात के बाद अभय सिंह ने कहा कि लालू प्रसाद ठीक से सो नहीं पा रहे हैं। सिंह ने बताया कि उन्होंने समझाया है कि हतोत्साहित नहीं होना है। हमलोग उनकी अच्छी सेहत की कामना कर रहे हैं। लालू प्रसाद के साथ मिलकर किताब लिखने वाले नलिन वर्मा ने कहा कि उन्होंने लालू प्रसाद की ऑटोबायोग्राफी ‘गोपालगंज टू रायसीना’ उन्हें सौंपी है। ऑटोबायोग्राफी में उनके 50 साल के राजनीतिक जीवन को दर्शाया गया है। इसमें लालू प्रसाद ने अपनी उपलब्धि के साथ-साथ कमियों को भी बताया है। किताब का निचोड़ यह है कि कैसे एक गरीब परिवार का व्यक्ति इस ऊंचाई तक पहुंचा, जहां लाखों लोग उनके चाहने वाले हैं।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here