Loading...
Image result for चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था पर मोदी सरकार पर निशाना साधा कहा- मैं चिंतित हूं

पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के एक दिन बाद आज राज्यसभा पहुंचे. इसके बाद उन्होंने कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि मैं चिंतित हूं. हमारी आवाज को दबाया जा रहा है. चिदंबरम ने जीडीपी और महंगाई को लेकर भी सरकार पर सवाल खड़े किए.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिदंबरम ने कहा, ‘’106 दिनों बाद आपसे बात कर खुशी हो रही है. मैं सुप्रीम कोर्ट के कल के फैसले के लिए धन्यवाद देता हूं.’’ हालांकि उन्होंने कहा कि मैं न्यायाधीन मामलों पर टिप्पणी नहीं करूंगा. चिदंबरम कल 106 दिनों बाद तिहाड़ जेल से बाहर आए थे.

अर्थव्यवस्था का बुरा हाल है- चिदंबरम

चिदंबरम ने कहा, ‘’अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौन हैं. पहले नोटबंदी, फिर गलत तरीके से लागू हुआ जीएसटी, टैक्स टेररिज्म और पीएम कार्यालय से नियंत्रण आदि की वजह से अर्थव्यवस्था का बुरा हाल है.’’ उन्होंने कहा, ‘’जीडीपी दर में गिरावट है. जीडीपी अभी 4.5% नहीं बल्कि हकीकत में 1.5% है. हर आंकड़ा लड़खड़ाती अर्थव्यवस्था की कहानी बयान करता है.’’

चिदंबरम ने कहा, ‘’मांग की कमी है, क्योंकि लोगों के पास पैसे नहीं हैं. इसकी वजह अनिश्चितता और डर है. यूपीए ने 14 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला, जबकि एनडीए ने 2016 के बाद से लाखों लोगों को गरीबी में धकेला है. अर्थव्यवस्था को मंदी से निकाला जा सकता है, लेकिन ये सरकार इसमें नाकाम है.’’

कश्मीर का दौरा करना चाहूंगा- चिदंबरम

चिदंबरम ने आगे कहा, ‘’मैं कश्मीर के 75 लाख लोगों के लिए चिंतित हूं. अगर सरकार इजाजत देगी तो मैं कश्मीर का दौरा करना चाहूंगा.’’ ABP के न्यूज के एक सवाल के जवाब में चिदंबरम ने कहा कि अगर आप गारंटी लें कि सरकार हमें सुनने के लिए बुलाएगी तो हम अपने सुझाव देंगे.

तिहाड़ में थे क्यों चिदंबरम?

चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड(एफआईपीबी) की मंजूरी देने के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) ने 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था. यह मामला तब का है, जब वह देश के वित्तमंत्री थे. उन्हें 5 सिंतबर को न्यायिक हिरासत में भेजा गया था. तिहाड़ जेल में न्यायिक हिरासत में रहने के दौरान 16 अक्टूबर को उन्हें प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन रोकथाम अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया था. 17 अक्टूबर के बाद से चिदंबरम को 30 अक्टूबर तक ईडी की हिरासत में भेज दिया गया था.

Loading...