Loading...

मिर्जापुर से तौसिफ अहमद की रिपोर्ट

 मिर्जापुर: जनपद में नमक रोटी बच्चों को खिलाए जाने का मामला प्रकाश में लाने वाले पत्रकार पर दर्ज प्राथमिकी वापस लिए जाने व चुनार में पत्रकार पर किए गए हमले के बाद हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पत्रकारों का दल आज निर्धारित कार्यक्रम के तहत बुधवार को दिन में मंडलायुक्त आनंद कुमार सिंह से मिला और पत्रक सौंपा । इसके पूर्व कमिश्नर कार्यालय पर प्रदर्शन कर अपने आक्रोश का इजहार किया ।

पत्रकार उत्पीड़न मामले 3 सितम्बर को विन्ध्याचल मंडल के आयुक्त को पत्रकारों ने पत्रक सौंपे थे पत्रक का स्मरण कराते हुए अब तक कोई सार्थक कार्रवाई नजर न किये जाने पर चिंता जताया गया । पत्रक में कहा गया है कि अहरौरा थाने के जमालपुर प्राथमिक विद्यालय सेऊर में गत 22 अगस्त को मिड-डे मिल में नमक-रोटी बांटने
की हकीकत दिखाने से कुछ अफसर नाराज़ हैं । वह भी इस कदर की अपने पत्रकारिता दायित्व का निर्वहन करने पर भ्रष्ट लोगों को बचाने के लिए पत्रकार के ही खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कराया गया है ।

चुनार पोस्टमार्टम हाउस पर 2 सितंबर 2019 को पत्रकार पर हमला कर पिटाई करने वाले दबंग आज भी खुले आम घुमते हुए कानून को ठेंगा दिखा रहे हैं ।
अब तक कोई कार्रवाई न होने से हम सब व्यथित हैं । लोकतंत्र को पंगु बनाने और प्रदेश सरकार को बदनाम करने की साज़िश रची जा रही है । दोनों प्रकरण में न्यायोचित कदम उठाने और दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की गई है ।प्रदर्शन करने वालों में संजय दूबे, वीरेंद्र दूबे, राजकुमार उपाध्याय, राजकुमार मालवीय, सुभाष मिश्र, मुकेश पाण्डेय, शरद मिश्र, राजकुमार शर्मा, घनश्याम ओझा, अजय दूबे, अश्वनी उपाध्याय, इंद्रमणि पांडेय, प्रवीण तिवारी, विनोद सिंह, राकेश श्रीवास्तव, कामेश्वर पाल, श्रीकांत कुशवाहा, शिवनाथ गुप्ता, महेंद्र सिंह, संत कुमार, विजेन्द्र दूबे, रामलाल साहनी, हेमंत शुक्ला, वतन शुक्ला, रामकुमार, अमित तिवारी, विनोद श्रीवास्तव, राजू, दीपचंद और नितिन अवस्थी समेत कई दर्जन पत्रकार उपस्थिति थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here