Loading...
Loading...

Image result for किशोरी का सौदा

भोजपुर व पटना से जुड़े बिहार के बहुचर्चित सेक्स कांड में संदेश के राजद विधायक अरुण यादव की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इस मामले में अब उनका जेल जाना तय माना जा रहा है। पुलिस के अनुरोध पर पॉक्सो के विशेष कोर्ट ने शुक्रवार को विधायक अरुण यादव के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया।वारंट मिलते ही पुलिस विधायक की गिरफ्तारी में जुट गयी है। इसके लिए छापेमारी तेज कर दी गयी है। बताया जा रहा है कि वारंट मिलने के साथ ही टीम विधायक के ठिकानों की ओर निकल गयी है। हालांकि पुलिस इस मामले में अब भी साफ तौर पर कुछ बताने से परहेज कर रही है। इस केस के आईओ चंद्रशेखर गुप्ता शुक्रवार को डायरी लेकर कोर्ट पहुंचे। उसके बाद कोर्ट ने दोपहर बाद वारंट जारी कर दिया। सेक्स कांड में नाम आने के बाद पुलिस विधायक के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट के लिए बुधवार को ही कोर्ट गयी थी। तब कोर्ट ने आवेदन में कुछ कमियां पाते हुए पुलिस से डायरी की मांग कर दी थी। इधर, केस में नाम आने के बाद से ही विधायक भूमिगत हो गये हैं। मालूम हो कि पीड़ित किशोरी का कोर्ट में दुबारा बयान छह सितंबर को कराया गया था, जिसमें ही विधायक का नाम आया था।

चारा हजार में किया गया किशोरी का सौदा
बिहार के हाई प्रोफाइल सेक्स स्कैंडल की शिकार आरा की किशोरी का महज चार हजार रुपये में सौदा किया गया था। उसके साथ पहली बार यूपी के लखनऊ में गलत काम किया गया था। इसके लिए उसे लखनऊ के रहने वाले रिंकू नाम के युवक के आवास पर ले जाया गया था और वहीं गलत काम किया गया था। तब किशोरी के साथ उसे ले जाने वाली महिला के साथ भी गंदा काम किया गया था। इसके एवज में किशोरी व महिला को महज चार-चार हजार रुपये दिये गये थे। वहीं किशोरी व महिला के बीच कड़ी बनी आरा की रहने वाली एक युवती को सिर्फ पांच सौ रुपये दिये गये थे। सेक्स स्कैंडल में जेल जाने वाली महिला ने खुद इस बात को पुलिस के सामने स्वीकार किया है।

महिला के बयान को सही माना जाये तो किशोरी को आरा से सीधे लखनऊ निवासी रिंकू के आवास पर ले जाया गया। वहां किशोरी व महिला के साथ गंदा काम किया गया। तीन दिन तक लखनऊ में रखे जाने के बाद महिला किशोरी को लेकर पहले पटना और फिर आरा पहुंची। इसके बाद किशोरी को आरा स्थित मनरेगा के इंजीनियर के आवास पर भेजा गया। फिर पटना के सचिवालय स्थित एक सरकारी फ्लैट (नंबर 28) पर भेजा गया। इसे ही विधायक का आवास बताया जा रहा है। यहां उसे पिछले दरवाजे से महिला द्वारा ही ले जाया गया था। 164 के तहत कोर्ट में दिये गये पुर्नबयान में इसी फ्लैट में भोजपुर के संदेश के विधायक अरुण यादव पर गंदा काम करने का आरोप किशोरी ने लगाया है। इसके बाद तो इसका सिलसिला ही चल पड़ा। आये दिन किशोरी का सौदा किया जाने लगा। महिला के मुंहबोले जीजा द्वारा किशोरी को होटलों व अन्य जगहों पर भी भेजा जाने लगा।

रिंकू का नहीं मिला सुराग

किशोरी को देह व्यापार के धंधे में धकलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली युवती को शायद पुलिस भूल गयी है। किशोरी को पहली बार दर्द देने वाले लखनऊ के रिंकू का भी पुलिस को अब तक सुराग नहीं मिल सका है। रिंकू का जुड़ाव भोजपुर से भी बताया जा रहा है।

विधायक अरुण की तलाश में पटना में भी छापा 
भोजपुर व पटना से जुड़े सेक्स रैकेट कांड में संदेश के राजद विधायक अरुण यादव पर शुक्रवार को गिरफ्तारी वारंट निकल गया। आरा पुलिस के अनुरोध पर पॉक्सो के विशेष कोर्ट ने शुक्रवार को विधायक अरुण यादव के खिलाफ वारंट जारी किया। इसके बाद उनकी गिरफ्तारी तय मानी जा रही है। अगर विधायक ने सरेंडर नहीं किया तो पुलिस उनके खिलाफ इश्तेहार जारी किया जाएगा।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here