Loading...
Loading...

गौरव
लाइव भारत न्यूज़
नई दिल्ली।
02 मार्च 2019
2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से एलजेपी उम्मीदवार चौधरी महबूब अली कैसर ने जीत दर्ज की. उन्होंने आरजेडी प्रत्याशी कृष्णा कुमारी यादव को हराया.
खगड़िया लोकसभा क्षेत्र बिहार के कुल 40 क्षेत्रों में एक है. चुनाव आयोग के 2009 के एक आंकड़े के मुताबिक यहां कुल वोटरों की संख्या 1,342,970 है जिनमें 630,898 महिला और 712,072 पुरुष मतदाता हैं. इस सीट पर अधिकांश बार जनता दल का कब्जा रहा है. बाद में यही पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू) हो गई जिसने 1999 में जीत दर्ज की. उससे पहले 89,91 और 96 में तीन बार लगातार जनता दल ने इस सीट पर जीत हासिल की थी. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चौधरी महबूब अली कैसर विजयी रहे जिन्होंने आरजेडी की प्रत्याशी कृष्ण कुमारी यादव को हराया.
खगड़िया का समीकरण
जनता दल और जदयू की पकड़ इस सीट पर भले मजबूत रही हो लेकिन पिछले कुछ वर्षों में आरजेडी भी यहां तेजी से उभरी है. 2004 के चुनाव में आरजेडी ने यहां अच्छी जीत हासिल की और इस बार भी एलजेपी को टक्कर देने की स्थिति में नजर आ रही है. खगड़िया मुंगेर डिवीजन में पड़ता है जिसका जिला मुख्यालय खगड़िया सिटी में है. 2011 की जनगणना के मुताबिक खगड़िया बिहार का सबसे कम आबादी वाला जिला है जहां 1,276,677 लोग रहते हैं.
2009 और 2014 के चुनाव का ब्योरा
2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से एलजेपी उम्मीदवार चौधरी महबूब अली कैसर ने जीत दर्ज की. उन्होंने आरजेडी प्रत्याशी कृष्णा कुमारी यादव को हराया. कैसर को जहां 313806 वोट मिले तो यादव को 237803 वोट. वोट प्रतिशत देखें तो कैसर को जहां 35.01 प्रतिशत मत हासिल हुए तो कृष्णा यादव को 26.53 प्रतिशत वोट मिले. इस सीट पर तीसरे स्थान पर नोटा रहा जिसके तहत 23868 वोट दर्ज हुए. कुल वोटों का यह 2.66 प्रतिशत हिस्सा था. वोट स्वींग देखें तो इस सीट पर जेडीयू के वोट एलजेपी के खाते में गए और एलजेपी आरजेडी के खिलाफ आसानी से जीत गई. 2009 के चुनाव में जदयू के दिनेश चंद्र यादव जीते थे, वहीं 2004 के चुनाव में भी जदयू जीती थी लेकिन उम्मीदवार थे रविंद्र कुमार राणा. दिनेश चंद्र को 266964 वोट मिले थे जबकि राणा को 128209 वोट.
महबूब अली कैसर की संसद में प्रदर्शन
2014 में जीत कर लोकसभा पहुंचे महबूब अली कैसर ने मात्र दो बहसों में हिस्सा लिया. उनके खाते में एक भी प्राइवेट मेंबर बिल नहीं है. संसद में हुई अलग-अलग बहसों में उन्होंने मात्र 3 सवाल पूछे. उनकी हाजिरी का ब्योरा फिलहाल उपलब्ध नहीं है.
कैसर का सांसद निधि खर्च
खगड़िया संसदीय क्षेत्र के लिए 25 करोड़ रुपए की राशि निर्धारित है. भारत सरकार ने कुल 25 करोड़ रुपए जारी किए. ब्याज के साथ यह राशि 26.93 करोड़ रुपए हुई. सांसद कैसर ने अपने क्षेत्र के लिए 40.75 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा जिसमें 26.91 करोड़ रुपए पास हुए. इसमें 24.00 करोड़ रुपए खर्च हुए. कुल राशि का 95.90 प्रतिशत हिस्सा खर्च हुआ और 2.94 प्रतिशत बचा रह गया.
खगड़िया की विधानसभी सीटें
इस संसदीय क्षेत्र में छह विधानसभा सीटें हैं. इनके नाम हैं-सिमरी बख्तियारपुर, खगड़िया, हसनपुर, बेल्दउर, अलौली (एससी) और परबत्ता. इनमें अलौली विधानसभा सीट एससी के लिए आरक्षित है.
पिछले चुनाव में कितने वोटर और पोलिंग बूथ
पिछले चुनाव में खगड़िया लोकसभा क्षेत्र में 1400 पोलिंग स्टेशन बनाए गए थे जिन पर कुल 1506587 वोटरों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. प्रति पोलिंग स्टेशन करीब 1076 लोगों ने वोट किया. इस चुनाव में 14 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किए जिनमें 13 मैदान में उतरे जबकि एक ने अर्जी वापस ले ली. चुनाव के नतीजे आने के बाद 10 उम्मीदवारों के जमानत जब्त हो गए. कुल 13 उम्मीदवारों में 12 पुरुष और 1 महिला थी. विजेता एलजेपी प्रत्याशी महबूब अली कैसर रहे जबकि उप-विजेता आरजेडी की कृष्ण कुमार यादव थीं. कैसर ने 76003 वोटों से जीत हासिल की.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here